Sant Asaram Bapu Ji

Sant Asharamji Bapu – Amar Singh – सही क्या है और गलत क्या है ? #WhySoBiasd?

Video Posted on Updated on

amarsingh

हाँ, हम लोग टी.वी. खोलते हैं । जभी देखो जितने चैनल हैं सब पे बस एक ही चीज दिखाया जा रहा है । उसके मालिक अलग हैं, चैनल अलग हैं, उनके संवाददाता अलग-अलग हैं । लेकिन हर चैनल पे आप एक ही चीज क्यों देखते हो ? जो चैनल बदल के देखो सब पे एक ही चल रहा है संत आशारामजी बापु का कुप्रचार । इसलिए हमने टी.वी., चैनल देखना बंद कर दिया है । क्योंकि जब मालूम पड गया ये षड्यंत्र है तो सुन-सुन के बर्दाश्त नही होता इसलिए हमने चैनल देखना बंद कर दिया और आप सब भाइयों से अनुरोध है के जितने भारतवासी हैं उनसे यहीं अनुरोध है कि कम से कम वो अपने दिमाग से अपनी बुद्धि से ये निर्णय कर ही सकते हैं कि सही क्या है, गलत क्या है । कौन क्या दिखा रहा है, कौन क्या सुना रहा है ! हमारे पास इतनी क्षमता है के हम लोग समझ सकते हैं कि मिडिया क्यों पीछे पड़ी है ! मिडिया को क्या मिल रहा है ? सरकार को क्या मिल रहा है ? तो ये सब सारा षड्यंत्र है । इस षड्यंत्र के बहकावे में ना आये और अपना जहा तक हो जो शिक्षा-दीक्षा मिली है उसमें लग के अपनी उन्नति करें और अपने देश का भविष्य देखें और मिडिया दूसरा चीज क्यों नही दिखाती ? संत आशाराम बापूजी ने जो आज ७५ साल कि उम्र हो गयी, ४५ साल से सेवा किये हैं देश की ! एक-एक जन को जगाया है, एक-एक जन के हृदय में जो भक्ति जगाया है उसको मिडिया नही दिखाती । और हजारो साधको को जो-जो अनुभव हुए हैं – हमारा जीवन क्या था, हम कहाँ बह रहे थे, हम कहाँ पे आके खड़े हो गये ! हमने क्या-क्या जीवन में पाया ! जो आप कभी सोच नही सकते थे ! आपके जीवन में ऐसी-ऐसी घटनाए घटी वो भी सब पूर्ण हो गयी । तो मिडिया उसको क्यों नही दिखाती ? मिडिया बापूजी कि सेवा को क्यों नही दिखाती ? गरीबों में जो अनाज, वस्त्र बटता है मिडिया उसको नही दिखाती । बापूजी से जो ७ करोड़ साधक फायदा उठा रहे हैं, मिडिया उसको क्यों नही दिखाती? मीडिया संत आशाराम बापूजी की सेवा नहीं दिखाती । आश्रम मे कुछ गलत है ही नही फिर भी ऐसा-वैसा गलत क्यों दिखा रही है ? क्या बोलना चाहती है ? देश में तो और भी समस्याए हैं । उसको नही दिखाती । बॉर्डर पे कितने जवान मर रहे हैं ! पाकिस्तान रोज सीज फायर कर रहा है, रोज उलंघन कर रहा है, उसका कुछ नही दिखती मिडिया ! और जितने भ्रष्टाचार चल रहे हैं, देश के नेता जो हैं वो क्या-क्या कर रहे हैं, और क्या-क्या हो रहा है ! आप सब जानते हो, सब देख रहे हो, सब सुन रहे हो, इसका क्यों नही विचार करते ? सिर्फ संत आशाराम बापूजी को बदनाम करने मे सब क्यों लगे हैं ? मिडिया और दिखा सकती है और कुछ बता सकती है । लेकिन सारे चैनलों में बस एक ही चीज चलती है सुबह, शाम, रात, दिन !

(आशाराम बापू !आशाराम बापू !! आशाराम बापू !!!)