मध्यान्ह

जप के 20 नियम – स्वामी शिवानन्द सरस्वती

Posted on Updated on

स्वामी शिवानन्द सरस्वतीजी – जप के 20 नियम …

जप के नियम,swami shivanand,स्वामी शिवानन्द सरस्वती
Swami Shivanandji Saraswati

जो इस प्रकार हैं ;

  1. जहाँ तक सम्भव हो वहाँ तक गुरू द्वारा प्राप्त मंत्र की अथवा किसी भी मंत्र की अथवा परमात्मा के किसी भी एक नाम की 1 से 200 माला जप करो।
  2. रूद्राक्ष अथवा तुलसी की माला का उपयोग करो।
  3. माला फिराने के लिए दाएँ हाथ के अँगूठे और बिचली (मध्यमा) या अनामिका उँगली का ही उपयोग करो।
  4. माला नाभि के नीचे नहीं लटकनी चाहिए। मालायुक्त दायाँ हाथ हृदय के पास अथवा नाक के पास रखो।

 




View More Here