प्रार्थना में अथाह शक्ति

Posted on Updated on

prarthana
Sant Asaramji Bapu Prarthana

एक पेड़ पर पपिहा रहता था .और उस जंगल मैं एक शिकारी भी था एक दिन उस शिकारी की नज़र उस पपिहे पर गयी . उसने शिकार करने की सोची और तीर उठाया . पपिहा यह देखकर घबरा गया और उसने उपर देखा तो बाज़ उस पपिहे की ओर आ रहा था . ऐसे मैं पपिहा दोनो ओर से घिर गया . और आर्त भाव से प्रभु से प्रार्थना की !! हे प्रभु अब तूहि है जो मेरे प्राण बचा सकता है हे हरि !! हे हरि !!! पूज्य श्रीके वचन :- जब आप हरि की शरणआगति जाते है तो सर्व समर्थ परमात्मा आता है और अपने भक्त को बचाता है तो हुआ ये
जहा शिकारी खड़ा हुआ था उस पेड़ के नीचे से सांप निकल कर शिकारी को काट गया और उसका निशाना पपिहे के बजाय बाज़ मे जाकर लगा और पपिहे के प्राण बच गये तो इससे यह तातपर्य है की जब भी आप बुरी समस्या मे हो तो हरि की शरण लो ना की जगत की |

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s